What is UPTET Exam in Hindi – एलिजबिलिटी, एज-लिमिट से जुड़ी सभी जानकारी

What is UPTET Exam in Hindi – कोरोना के इस भयंकर माहौल में लोगों के लिए नौकरियां सपने जैसा होने लगी है वैसे तो भारत भर में तमाम क्षेत्र हैं जिनमें लोग नौकरियां करते हैं। लेकिन सरकारी नौकरी को आज भी लोग प्राथमिकता देते हैं। यदि आप उत्तर-प्रदेश के निवासी हैं और प्रदेश में आप एक योग्य शिक्षक बनने की राह देख रहे हैं तो UPTET को समझना होगा कि आखिरकार यूपीटेट क्या है?

इसके लिए क्या योग्यता आपके पास होनी चाहिए? और इसका एग्जाम पैटर्न क्या है? नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको UPTET के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं तो बने रहिए आखिर तक और पढ़िए इस आर्टिकल को चलिए शुरू करते हैं.

What is UPTET Exam in Hindi 

परीक्षा का नाम UPTET
UTTET का Full Form उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test)
राज्य से सम्बंधित उत्तर-प्रदेश
क्यों जरुरी है प्रदेश में आने वाली शिक्षक की भर्ती के लिए आवेदन करने का पात्र बनने के लिए
लेख का नाम What is UPTET Exam in Hindi
अधिकारिक साइट updeled.gov.in

UPTET का फुल फॉर्म अंग्रेजी में टीचर एबिलिटी टेस्ट फॉर उत्तर प्रदेश है. यानी यदि आप शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपको सर्वप्रथम यह परीक्षा पास करनी अनिवार्य है। यदि आप यह परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाते हैं तो आप शिक्षक नहीं बन पाएंगे। शिक्षक बनने की कड़ी में यह पहली सीढ़ी की तरह है, तो आइए समझते हैं इसके लिए आखिरकार योग्यता क्या होनी चाहिए?

UPTET Eligibility

UP TET की परीक्षा में बैठने से पहले आपको अपनी योग्यता जरूर एक बार चेक करनी चाहिए तो आइए हम आपको बताते हैं कि आखिरकार यूपीटेट परीक्षा में यदि आप बैठना चाहते हैं तो इसके लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए.

What is UPTET Exam in Hindi

◆ सर्वप्रथम आपके पास बीएड, बीपीएड, बीटीसी या डीएलएड में से किसी एक में आप उत्तीर्ण हो। यानी इनमें से कोई भी एक डिग्री आपके पास होनी ही चाहिए।

◆ यदि आपके पास उपरोक्त में से कोई एक डिग्री है तो आप यूपीटेट की होने वाली परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं और परीक्षा में बैठ सकते हैं।

◆ यदि आप शिक्षक की आने वाली भर्ती के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो यूपीटेट आपको उत्तीर्ण करना अनिवार्य होगा। बिना यूपी टेट की परीक्षा पास किए आप टीचर की भर्ती के लिए आवेदन नहीं कर सकते.

◆ यूपी टेट का एग्जाम उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड UPBEB प्राइमरी टीचर और अपर प्राइमरी टीचर एग्जाम के लिए आयोजित कराती है। इसकी आधिकारिक वेबसाइट uptet.gov.in है.

UPTET – Age Limit

आयु सीमा भी एक महत्वपूर्ण पहलू है इस परीक्षा का, तो आइए जानते हैं यूपीटेट के लिए आखिरकार बोर्ड ने क्या आयु सीमा निर्धारित कर रखी है.

न्यूनतम आयु 18 वर्ष
अधिकतम आयु 35 वर्ष
OBC वालों को छूट 3 वर्ष
SC/ST वालों को छूट 5 वर्ष
PH ( दिव्यांग ) को छूट 15 वर्ष

◆ यदि आप यूपी टेट की परीक्षा में बैठना चाहते हैं तो आप की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए. वही ओबीसी वालों को 3 साल और एससी/एसटी वालों को 5 वर्ष की अतिरिक्त छूट मिलती है. जबकि दिव्यांग उम्मीदवारों को 15 वर्ष तक की छूट दी जाती है।

UPTET 2021 Exam Pattern

दोस्तों किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए सबसे पहले उसके एग्जाम पैटर्न को समझना अति आवश्यक होता है. बिना एग्जाम पैटर्न और सिलेबस को समझे आप एग्जाम क्वालीफाई नहीं कर सकते. कहते हैं कि एग्जाम पैटर्न और सिलेबस को अच्छी तरीके से समझ लेने के बाद आपने समझ लीजिए 50% परीक्षा पास कर ली. बहुत से लोग यही मूलभूत गलती करते हैं कि वह परीक्षा में तो बैठ जाते हैं लेकिन उनका एग्जाम पैटर्न और सिलेबस सुनिश्चित नहीं होता है.

Paper – 1 (class I to class V)

UPTET 2021 टॉपिक प्रश्नों की संख्या अंक समयावधि
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy) 30 30
भाषा – 1 हिंदी (Language I) 30 30
भाषा – 2 Language II (अंग्रेज़ी/ उर्दू/संस्कृत) 30 30
गणित (Mathematics) 30 30
पर्यावरण (Environmental Studies) 30 30
कुल 150 150 ढाई घंटे (150 मिनट)


Paper -2 (
Classes VI to VIII)

टॉपिक का नाम प्रश्नों की संख्या अंक समय-सीमा
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy) 30 30
भाषा – 1 (Languages I) 30 30
भाषा – 2 (Language II) 30 30
विज्ञान & गणित या सामाजिक विज्ञान (Science and Mathematics (OR)
Social Science)
60 60
कुल 150 150 ढाई घंटे (150 मिनट)

◆ यूपीटेट के एग्जाम के पैटर्न के तहत 2 पेपर – पेपर 1 और पेपर 2 आयोजित होते हैं. दोनों प्रश्नपत्र की समय अवधि ढाई घंटे की होती है और प्रश्नों की संख्या 150 होती है और प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है.

◆ सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस परीक्षा में किसी भी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है.

◆ यदि आप प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं तो आपको केवल पेपर 1 क्वालीफाई करना होता है. वही अपर प्राइमरी टीचर के लिए यानी 6 से 8 तक के लिए द्वितीय प्रश्न पत्र होता है जो व्यक्ति 1 से 5 या 6 से 8 दोनों के लिए आवेदन करना चाहते हैं उन्हें दोनों पेपर क्वालीफाई करना होता है।

UPTET Exam in Hindi – चयन प्रक्रिया

UPTET चयन प्रक्रिया में निम्नलिखित चरण शामिल हैं:

चरण 1- UPTET परीक्षा में दो पेपर होते हैं। पेपर- I उन उम्मीदवारों को देना होता है जो कक्षा 1-5 तक के अध्यापक बनना चाहते हैं। जबकि पेपर- II उन उम्मीदवारों को देना होता है जो कक्षा 6-8 तक के अध्यापक बनना चाहते हैं। कक्षा 1-8 को पढ़ाने की योजना बनाने वाले उम्मीदवारों को दोनों पेपरों के लिए उपस्थित होना होगा।

चरण 2- UPTET परिणाम UPBEB द्वारा परीक्षा की आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित किया जाता है। लिखित परीक्षा में न्यूनतम 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को यूपीटीईटी योग्य घोषित किया जाता है।

चरण 3- लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को यूपीबीईबी द्वारा पात्रता प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। प्रमाण पत्र रखने वाले उम्मीदवार उत्तर प्रदेश के स्कूलों में शिक्षक के लिए निकलने वाली नौकरियों के लिए आवेदन करने के पात्र हो जाते हैं। UPTET पात्रता प्रमाण पत्र की वैधता पांच वर्ष होती थी। लेकिन अभी हाल में ही योगी सरकार ने इसे आजीवन मान्य कर दिया है। यह आदेश 11 फरवरी, 2011 के बाद अब तक आयोजित हुईं सभी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षाओं में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों पर लागू होगा। मुख्यमंत्री ने 16 जून 2021 टीम-9 के साथ बैठक में यूपी टीईटी के प्रमाणपत्र को आजीवन वैध करने का निर्देश दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here