तुम मेरी ज़िंदगी में शामिल हो ऐसे, मंदिर के दरवाज़े पर मन्नत के धागे हों जैसे।

होंठों पे लिये हुए तेरे दिल की बात, याद करता हूँ तुझे मैं सारी सारी रात…

बदल जाती है ज़िंदगी की हक़ीक़त, जब तुम मुस्कुराकर बोलते हो तुम बहुत प्यारे हो।

देख कर तेरी आँखों को मदहोश मै हो जाता हूँ तेरी तारीफ किये बिना मै रह नहीं पता हूँ..!!!

क्या बताऊं यार तुझको प्यार मेरा कैसा है, चांद सा नही है वो चांद उसके जैसा है।

मोहब्बत हमारी भी, बहुत असर रखती है, बहुत याद आयेंगे, जरा भूल के तो देखो।

इन होंठो को परदे में छुपा लिया कीजिये… हम गुस्ताख लोग हैं नजरों से चूम लिया करते हैं…

सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा, जितना देखेंगे तुम्हें उतना ही प्यार आएगा।